Gantantra Diwas Hindi Essay For Schools Students

Gantantra Diwas Hindi Essay For Schools Students – Republic Day Essay

Gantantra diwas is hindi name of republic day or 26 january, This is the day our constitution came in force in 1950. When we study in school, our class teacher used to give homework on every event and the homework is write essay on any event. This is the month of january so one more essay you have to write down as homework. Here is essay or nibandh on Gantantra Diwas Hindi Essay For Schools Students – Republic Day Essay. Mostly teacher prefer to give essay in hindi and students thinks, this is not good with us. Dear students this is for your knowledge and you should increase your external knowledge by essay/nibandh and debate.

We have used slogan, patriotic slogan and desh bhakti naare in this essay. this is the best essay over the internet for all students and you can also use this essay as speech in your school. This republic day or gantantra diwas essay is for  class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10, class 11, and class 12. Every students can use this essay as homework and speech.

Gantantra Diwas Hindi Essay For Schools Students

प्रस्तावना –

26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस के नाम से भी जानते हैं और यह दिन हमारे भारतवर्ष में 1950 से मनाया जाता है ! यह दिवस भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया है और इसी दिन हमारा देश पूर्ण स्वतंत्र हुआ था! इस वर्ष हम 68वां 26 जनवरी मनाने जा रहे हैं और हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी वही हर्ष और उल्लाश सभी के मन के है! भारत को गणतंत्र बनाने में डॉ भीम राव आंबेडकर जी की अहम भूमिका रही है. और इसी को देखते हुए हम आज डॉ भीम राव आंबेडकर को स्मरण करते हैं और उनका जन्म दिवस बड़े धूम धाम से मनाया जाता है. डॉ भीम राव आंबेडकर जी ने भारत का संविधान लिखा था!

हम 26 जनवरी क्यों मनाते हैं ?

यह प्रश्न काफी बड़ा है और इसका उत्तर बहुत ही आसान है कि इस दिन हमारा देश पूर्ण स्वतंत्र हुआ था और हमारे देश का संविधान लागू हुआ था. हमारे संविधान को बनने में 2 साल 11 माह और 18 दिन लगे थे! और अंत में 26 जनुअरी 1950 को हमारा देश स्वतंत्र हो गया था. हम आज भी गणतंत्र दिवस को पूरे हर्ष और उल्लाश के साथ मनाते हैं, भले ही हमें स्वतंत्र ता 15 अगस्त 1947 को मिल गयी थी परंतु हमारा देश पूर्ण स्वतंत्र 26 जनुअरी 1950 को हुआ क्योंकि हमारे देश का अपना संविधान इसी दिन लागू हुआ था. जी भी नियम हमारे संविधान में हैं जो वो 26 जनवरी 1950 से चलते हुए आ रहे हैं !

Motivational Quotes on 26 January Republic

हमें स्वतंत्र करने में बहुत से वीरों ने अपने प्राणों की बलि दी और इस दिवस को हम उन सब महावीरों को याद करते हैं. जिनोने इस देश को अंग्रेजों के चुंगल से छुड़ाने में अहम योगदान दिया. शायद आज हमे इतनी आजादी न होती अगर वो न होते, स्वतंत्रता सेनानियों में भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, नेता जी सुभाष चंद्र बोस , सरदार बलभ भाई पटेल, और महात्मा गांधी का बहुत योगदान था, महात्मा गन्दी को जवहारलाल नेहरू ने महात्मा की उपाधि दी थी और इनको बाद में राष्ट्रपिता के नाम से जाने जाना लगा! इनोने अहिंसा के मार्ग पर चलकर देश को आजाद करने में बहुत बड़ा योगदान दिया. हम इन शहीदों को सत सत नमन करते हैं ! और हमारे भारत को युही एकजुट बनाए रखने का प्रयत्न करते हैं !

Republic Day Anchoring Speech For School Function

बहुत से लोगो ने नारे दिए, जैसे की तुम मुझे खून दो मै तुम्हे आजादी दुंगा – सुभाष चंद्र बोस, जय जवान जय किसान – पंडित जवाहरलाल नेहरू, दिल्ली चलो – महात्मा गन्दी और हज़ारों प्रयासों के बाद हमारा देश आजाद हुआ और आज हम आजाद भारत में कही भी और कुछ व् अपनी मर्जी से कर सकते हैं बशर्ते वो अनुबंधित न हो !

हम गणतंत्र दिवस या 26 जनवरी कैसे मनाते हैं?

भारत के विभिन्न प्रान्तों में 26 जनुअरी को अपने रंग रूप से मनाया जाता है परंतु यह कोई संस्कृति से जुड़ा हुआ उत्सव नहीं है तो इसे मनाए का तरीका एक सा ही होता है ! स्कूलों और सरकारी दफ्तरों में इस दिन को बड़े धूम धाम से मनाया जाता है, सांस्कृतिक कार्यक्रमो के साथ सबसे पहले ध्वजारोहण होता है उसके बाद सरस्वती बंदना और फिर अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम किये जाते हैं. जलपान लेने के बाद सारे लोग अपने घरों को चले जाते हैं और और नए तकनिकी भरे युग में सोशल मीडिया पर आप 26 जनवरी का जलवा देख सकते हैं, हमारे भारत में 35% लोग इन्टरनेट चलाते हैं और वो 35% भी अपना पूरा योगदान देते हैं. 26 जनवरी को दिल्ली परेड से भी जाना जाता है, अगर आप 26 जनवरी को डेल्ही में हो और आप लाल किला या राज पथ पर परेड देखने नहीं गए तो आपका दिल्ली में रहने का कोई फायदा नहीं, इस दिन भारत की परमाद सकती, आर्मी की सकती, जल सेना और थल सेना सबकी सकती की प्रदर्शनी लगती है, सभी प्रान्तों से वहा की झांकियां वह के भेषभूषा में उस प्रान्त की झांकी निकलती है, अलग अलग सेना से वहां के जवान परेड में सहमिल हो कर हर एक गणतंत्र दिवस को ऐतिहासिक बनाते हैं, यह दृश्य देखने लायक होता है!

Desh Bhakti Poems in Hindi For 26 January

भरा नहीं जो भावों से
बहती जिसमे राशधर नहीं
वो ह्रदय नहीं वो पत्थर है
जिसमे स्वदेश का प्यार नहीं !

आइये मिलकर इस देश को स्वछ और एकजुट बनाए ! हमारे स्वतंत्रता सेनानियों में हमारे देश को आजाद कराने में अपने जान की बाजी लगा दी, तो हम अपने अपने राष्ट्र के लिए कम से कम इतना तो कर सकते हैं की पानी बचायें, बिजली बचायें, पेड़ बचायें, और अपने भारत को फिर से वो सोने की चिड़ियां बनायें !

save liight, save life, save water, save life, save tree save life

Here is an amazing essay for every kids, I am sure if you are searching for best essay or nibandh in hindi or english then this is the best site and you will get 10 out of 10 marks for this essay.

 

 

Incoming search terms:

  • Republicday
  • 26 january 2017 photo
  • anchoring on republic day in school in english
  • gadtantra divas in school celebrate niband
  • ganatanrra o varatbarsa eassy
  • Gantantra Diwas ki Bhumika
  • mana shivratri GIF poet
  • school mein gantantra diwas kaise banaya
  • www gartantra devas teranga image water

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *